उड़ान – एक परवाज

उड़ान .. अपरिभाषित विचारों की...!!

27 Posts

49 comments

nikhilbs09


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

जहाँ चाह वहां राह..

Posted On: 18 Aug, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

लोकल टिकेट में

0 Comment

एक शाम…

Posted On: 9 Aug, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

लोकल टिकेट में

2 Comments

C Programming Language – in brief description

Posted On: 23 Jun, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

लोकल टिकेट में

3 Comments

आइये dashboard पर एक नज़र डालते हैं..

Posted On: 10 Jun, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

लोकल टिकेट में

3 Comments

Reality for top 20 blogs

Posted On: 6 Jun, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

लोकल टिकेट में

3 Comments

whether responsibility taken to save earth…?

Posted On: 5 Jun, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

मेट्रो लाइफ में

3 Comments

OSS INITIATIVE

Posted On: 18 May, 2010  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

टेक्नोलोजी टी टी में

0 Comment

Page 1 of 3123»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा:

के द्वारा:

आप सभी के हम बहुत ही शुक्रगुजार हैं, जिन्होंने हमारी परेशानी को अपनी परेशानी समझ कर साथ दिया और तब तक लड़ते रहे, जब तक कि बुराई हार ना जाये… तो देखिये हम सब की एकता की ताकत के आगे बुराई आखिर हार ही गई, अरे भाई उस चोर ने अपने ब्लॉग से इस मंच की रचनाएँ हटा ली है…तो अब हम खुश हैं और आप सभी भी हो जाइये….. इस मंच पर यहीं तो बात अच्छी लगती है कि एक प्रतियोगिता में भाग लेते समय लोग वैसे तो एक दुसरे के प्रतिद्वंदी बन जाते हैं, पर जरुरत में हर कोई साथ होता है….और किसी एक का दुःख सबका होता है….ये मंच एक परिवार ही है….और भगवान से प्रार्थना है कि सभी के बीच ये स्नेह हमेशा बनाये रखे… पर हम सभी को अभी कुछ काम और करने होंगे….हमें इस समस्या का ठोस उपाय सोचना पड़ेगा ताकि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति ना हो और ये जड़ से ख़त्म हो जाये….तो चलिए मिलजुल कर कुछ सोचे…

के द्वारा: aditi kailash aditi kailash

के द्वारा:

के द्वारा:

के द्वारा:




latest from jagran