उड़ान – एक परवाज

उड़ान .. अपरिभाषित विचारों की...!!

27 Posts

49 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1396 postid : 114

C Programming Language - in brief description

Posted On: 23 Jun, 2010 लोकल टिकेट में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

hi guys…!

I have wrote this on my other blog space.. that is also about programming please follow this link…

http://w3softprojectdev.blogspot.com <if it doesn’t work then please copy paste this link  in your browser..>

hope to see you there soon! :)

-with regards and thanks
Nikhil Singh

| NEXT



Tags:           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

lionel richard के द्वारा
29/06/2010

hello there,i am Lionel Richard from india…i am not good at programming but have skills in designing apps and i want to bring up a team to develop a chat app like nimbuzz but way different from it……so please reply if interested. thank you.

    http://jarjspjava.jagranjunction.com के द्वारा
    03/07/2010

    Hello Sir, I m very grateful to you that you show your concern in my services. I would like to work on the chat application development. Please contact me with detail on my email i.d. what emolument I will receive and and how can I contribute in the development of application. thanks a lot Nikhil singh, email i.d. -> nikhilbs09@gmail.com

aditi kailash के द्वारा
24/06/2010

आप सभी के हम बहुत ही शुक्रगुजार हैं, जिन्होंने हमारी परेशानी को अपनी परेशानी समझ कर साथ दिया और तब तक लड़ते रहे, जब तक कि बुराई हार ना जाये… तो देखिये हम सब की एकता की ताकत के आगे बुराई आखिर हार ही गई, अरे भाई उस चोर ने अपने ब्लॉग से इस मंच की रचनाएँ हटा ली है…तो अब हम खुश हैं और आप सभी भी हो जाइये….. इस मंच पर यहीं तो बात अच्छी लगती है कि एक प्रतियोगिता में भाग लेते समय लोग वैसे तो एक दुसरे के प्रतिद्वंदी बन जाते हैं, पर जरुरत में हर कोई साथ होता है….और किसी एक का दुःख सबका होता है….ये मंच एक परिवार ही है….और भगवान से प्रार्थना है कि सभी के बीच ये स्नेह हमेशा बनाये रखे… पर हम सभी को अभी कुछ काम और करने होंगे….हमें इस समस्या का ठोस उपाय सोचना पड़ेगा ताकि भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति ना हो और ये जड़ से ख़त्म हो जाये….तो चलिए मिलजुल कर कुछ सोचे…


topic of the week



latest from jagran